आपके द्वारा अक्सर पूछे जाने वाले कुछ प्रश्नों के उत्तर

क्योंकि सभी को DOGE पसंद है! DOGE की कीमत में आए अचानक उछाल के कारण ट्रेडिंग ट्रैफिक में भी बड़े पैमाने पर उछाल आया है। हमने समवर्ती उपभोक्ताओं में 1000% का इज़ाफ़ा देखा है। हम हर दिन बढ़ती तादाद में ट्रेडिंग वॉल्यूम, ट्रैफिक, नए उपभोक्ता, और सक्रिय ट्रेडर्स के प्रत्यक्ष साक्षी हैं। हम अपनी कार्य प्रणाली को और अधिक उपभोक्ताओं के लिए और बेहतर बनाने के लिए काम ट्रेडिंग के लिए Cross कर रहे हैं ताकि आप आसानी से वज़ीरएक्स पर ट्रेड कर सकें।

प्र: DOGE/INR और DOGE/USDT की कीमत में फर्क क्यों हैं?

यह इन दोनों बाज़ारों की मांग की विविधता के कारण है। अगर मांग उपलब्धता से ज्यादा है, तो कीमत ऊपर जाएगी। जब उपलब्धता ज्यादा है और मांग कम है तो कीमत नीचे जाएगी। अभी, ज्यादातर उपभोक्ता DOGE को USDT की जगह INR से खरीदने में रूचि दिखा रहे हैं और कम लोग DOGE को INR में बेचने में रूचि दिखा रहे हैं। इसका मतलब है की DOGE का बाजार भारतीय मुद्रा में ज्यादा रूचि दिखा रहा है USDT में कम। यही कारण है की INR बाजार में कीमत थोड़ी ज्यादा दिख रही है। इससे अधिक, वज़ीरएक्स की आर्डर बुक खुली है और हम कीमत को निर्धारित नहीं कर सकते और न ही अपने प्लेटफार्म पर किसी क्रिप्टो की कीमत को नियंत्रित कर सकते हैं।

प्र: वज़ीरएक्स की सहायता धीमे क्यों हैं?

  • हमारी टीम के ~40% सदस्य COVID-19 से प्रत्यक्ष/परोक्ष रूप से प्रभावित हैं।
  • पिछले तीन महीने में हमारे यहाँ साइन-अप 300% की रफ़्तार से बढ़े हैं।
  • फरवरी से सपोर्ट आवेदन में 400% की बढ़ोतरी हुई है।

लेकिन क्या आप जानते हैं:

  • वज़ीरएक्स की सम्पूर्ण टीम पिछले एक महीने से अधिक समय तक काम कर रही है और यहाँ तक कि सप्ताहांत की छुटी में भी काम हो रहा है।
  • पिछले एक महीने में हमने अपनी सपोर्ट टीम में 150% की वृद्धि की है।
  • अगले कुछ हफ्तों में हम इस टीम को और 300% बढ़ाने पर काम कर रहे हैं।

प्र: क्या मै वज़ीरएक्स पर भरोसा कर सकता हूँ?

वज़ीरएक्स भारत की सबसे बड़ी एक्सचेंज है जिस पर 30 लाख से अधिक भारतीय भरोसा करते हैं। भले ही हमने वर्ष में उच्च विकास की योजना बनाई हो, लेकिन हमने अब तक जो विकास देखा है वह अभूतपूर्व है। हम अपने सिस्टम को और अधिक ट्रैफिक को संभालने के लिए काम कर रहें हैं। यह ट्रेडिंग के लिए Cross संभव है की तेज़ी से स्केलिंग करने के दौरान यहाँ वहां कुछ समस्याएँ आ सकती हैं। लेकिन यहाँ कुछ भी ऐसे नहीं है जिसे ठीक न किया जा सके।

हम यह सुनिश्चित करने के लिए कठिन परिश्रम करते रहेंगे कि आपके पास वज़ीरएक्स पर सबसे अच्छा ट्रेडिंग अनुभव है। हमेशा हमारे सहयोगी होने के लिए धन्यवाद।?

Disclaimer: Cryptocurrency is not a legal tender and is currently unregulated. Kindly ensure that you undertake sufficient risk assessment when trading cryptocurrencies as they are often subject to high price volatility. The information provided in this section doesn't represent any investment advice or WazirX's official position. WazirX ट्रेडिंग के लिए Cross reserves the right in its sole discretion to amend or change this blog post at any time and for any reasons without prior notice.

Muhurat Trading: दिवाली ट्रेडिंग के लिए Cross के खास मौके पर आज एक घंटे होगी मुहूर्त ट्रेडिंग! निवेशक मानते हैं इसे बेहद शुभ, यहां चेक करें पूरा शेड्यूल

Diwali Muhurat Trading 2022: शेयर मार्केट में मुहूर्त ट्रेडिंग की परंपरा 50 साल पुरानी है. हिंदू धर्म के अनुसार दिवाली के दिन से किसी निवेश की शुरुआत को बहुत शुभ माना जाता है.

By: ABP Live | Updated at : 24 Oct 2022 08:17 AM (IST)

दिवाली मुहूर्त ट्रेडिंग 2022

Diwali Muhurat Trading 2022: आज देशभर में रोशनी का त्योहार दीपावली (Diwali 2022) मनाया जा रहा है. इस खास दिन पर लोग माता लक्ष्मी की पूजा करते हैं और यह प्रार्थना करते हैं कि पूरे साल उनके घर पर धन और समृद्धि बनी रहें. दिवाली का त्योहार शेयर मार्केट (Share Market) के निवेशकों के लिए भी बहुत शुभ होता है.

इस दिन वैसे तो शेयर मार्केट बंद रहता है, लेकिन शाम में लक्ष्मी पूजन के बाद एक घंटे के लिए दिवाली पर मुहूर्त ट्रेडिंग (Diwali Muhurat Trading) होती है. एक घंटे में निवेशक शेयर मार्केट में जमकर पैसा लगाते हैं और अपने निवेश की शुरुआत करते हैं. अगर आप भी दिवाली के शुभ मौके पर मुहूर्त ट्रेडिंग (Diwali Muhurat Trading) में हिस्सा लेना चाहते हैं तो हम आपको इसके पूरे शेड्यूल के बारे में जानकारी दे रहे हैं-

मुहूर्त ट्रेडिंग को माना जाता है बेहद शुभ
शेयर मार्केट में मुहूर्त ट्रेडिंग (Diwali Muhurat Trading 2022) की परंपरा करीब 50 साल पुरानी है. हिंदू धर्म के अनुसार दिवाली के दिन से किसी निवेश की शुरुआत को बहुत शुभ माना जाता है. निवेशक मुहूर्त ट्रेडिंग के दिन ट्रेडिंग कम और निवेश ज्यादा करते हैं. इस साल का मुहूर्त ट्रेडिंग बहुत खास है क्योंकि इस साल धनतेरस शनिवार और रविवार को मनाया गया है. ऐसे में निवेशक इस दिन में शेयर मार्केट में निवेश नहीं कर सकें हैं.

दिवाली के दिन एक घंटे में शेयर मार्केट में जबरदस्त रौनक रहने की उम्मीद है. मुहूर्त ट्रेडिंग के प्रारंभ से पहले शेयर मार्केट में गणेश-लक्ष्मी की पूजा की जाती है. इस पूजा में स्टॉक एक्सचेंज के मेंबर्स शामिल होते हैं. इसके बाद फिर मुहूर्त ट्रेडिंग को शुरू किया जाता है. ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि मुहूर्त ट्रेडिंग के वक्त शेयर 60,000 को क्रॉस कर जाएगा.

News Reels

मुहूर्त ट्रेडिंग का समय-

  • ब्लॉक डील सेशन – शाम 5.45 से 6.00 बजे के बीच.
  • प्री ओपनिंग सेशन – शाम 6.00 से 6.08 बजे तक.
  • नॉर्मल मार्केट – शाम 6.15 से 7.15 बजे तक.
  • कॉल ऑक्शन सेशन – शाम 6.20 से 7.05 बजे तक.
  • क्लोजिंग सेशन – शाम 7.15 से 7.25 बजे तक.

एक साल में शेयर बाजार में देखा गया भारी उतार-चढ़ाव
पिछले साल 4 नवंबर 2021 को दिवाली के दिन मुहूर्त ट्रेडिंग का आयोजन किया गया था. यह दिन शेयर मार्केट के लिए बहुत शानदार रहा था. इस दिन सेंसेक्स 60 हजार के मार्क को क्रॉस कर गया था. वहीं निफ्टी 17,921 पर बंद हुआ था. वहीं पिछले एक साल में शेयर मार्केट में भारी उठापटक का दौर देखने को मिलेगा.

महंगाई, कोरोना महामारी, रूस यूक्रेन युद्ध, रुपये की गिरती कीमतें और कच्चे तेल के प्राइस में बढ़ोतरी के कारण लगातार शेयर बाजार में उठा पटक जारी रहा है. शुक्रवार को सेंसेक्स 104,25 अंक चढ़कर 59,307.15 पर बंद हुआ था.

ये भी पढ़ें-

Published at : 24 Oct 2022 08:17 AM (IST) Tags: Muhurat Trading Diwali 2022 Muhurat Trading 2022 हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

Robinhood के Web3 वॉलेट के लिए कस्टमर्स की वेटिंग लिस्ट 10 लाख के पार

Robinhood के CEO Vladimir Tenev ने Twitter के जरिए घोषणा की कि कंपनी के अपकमिंग वेब 3 क्रिप्टोकरेंसी वॉलेट के लिए कस्टमर्स की वेटिंग लिस्ट 1 मिलियन यानि कि 10 लाख को पार कर गई है

Robinhood के Web3 वॉलेट के लिए कस्टमर्स की वेटिंग लिस्ट 10 लाख के पार

नए वॉलेट में रॉबिनहुड के यूजर्स क्रिप्टो को अपने ब्रोक्रेज अकाउंट से सीधे विड्रॉ करवा सकेंगे

खास बातें

  • वर्तमान वॉलेट में कई तरह की सीमाए हैं
  • वर्तमान वॉलेट एनएफटी को सपोर्ट नहीं करता है
  • Web3 वॉलेट में यील्ड फार्मिंग, स्टेकिंग और एनएफटी सपोर्ट जैसे फीचर हैं

Robinhood ट्रेडिंग ऐप के क्रिप्टोकरेंसी वॉलेट के लिए कस्टमर्स की वेटिंग लिस्ट 10 लाख की संख्या को पार कर गई है. इसे Web3 Cryptocurrency Wallet नाम दिया गया है जिसकी घोषणा कंपनी ने मई में की थी. वॉलेट अगले हफ्ते से अपने बीटा टेस्टिंग फेज में प्रवेश करने वाला है. कंपनी ने अप्रैल में एक घोषणा के तहत कहा था कि वेटिंग लिस्ट में शामिल होने वाले कस्टमर्स को वॉलेट की एक्सेस पहले दे दी जाएगी.

Robinhood के CEO Vladimir Tenev ने Twitter के जरिए घोषणा की कि कंपनी के अपकमिंग वेब 3 क्रिप्टोकरेंसी वॉलेट के लिए कस्टमर्स की वेटिंग लिस्ट 1 मिलियन यानि कि 10 लाख को पार कर गई है. वॉलेट को ट्रेडर्स के लिए खासतौर पर बनाया गया है ताकि क्रिप्टोकरेंसी से जुड़ी सभी जरूरी सर्विसेज इसके द्वारा मुहैया करवाई जा सकें. घोषणा के साथ कंपनी ने एक प्रमोशनल वीडियो भी टैग किया है जिसमें एक बंदर एक ग्रीन पोर्टल में प्रेवश करता हुआ दिखाया गया है.

Robinhood Web3 क्रिप्टो वॉलेट के साथ कंपनी ने एक टैगलाइन भी पोस्ट में लिखी है- trade and swap crypto with no network fees. यानि कि वॉलेट के माध्यम से कस्टमर्स अब बिना नेटवर्क फीस दिए क्रिप्टो सर्विसेज इस्तेमाल कर सकेंगे. अप्रैल में कंपनी ने वॉलेट के लिए घोषणा की थी कि वेटिंग लिस्ट वाले कस्टमर्स को वॉलेट की उपलब्धता पहले दे दी जाएगी. उसके बाद से वॉलेट के लिए कस्टमर्स की वेट लिस्ट बढ़ने लगी. अब यह 10 लाख को पार कर गई है. कंपनी का कहना है कि अभी कस्टमर्स की ये वेटलिस्ट और भी ज्यादा बढ़ सकती है.

नए फीचर के आने बाद रॉबिनहुड के यूजर्स क्रिप्टो को अपने ब्रोक्रेज अकाउंट से सीधे विड्रॉ करवा सकेंगे. कंपनी के पास वर्तमान में जो वॉलेट है इसमें कई तरह की सीमाए हैं. यह एनएफटी को सपोर्ट नहीं करता है और इसमें अभी कई ऐसी क्रिप्टोकरेंसी लिस्टेड नहीं हैं जिनको कंपनी आने वाले समय में प्लेटफॉर्म पर लिस्ट करने वाली है. इसलिए नए वॉलेट का इंतजार किया जा रहा है. Web3 wallet में यील्ड फार्मिंग, स्टेकिंग और एनएफटी सपोर्ट जैसे फीचर हैं. इसे खासतौर पर एडवांस्ड कस्टमर्स के लिए डिजाइन किया गया है. वॉलेट का रोलआउट साल के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है.

कैसे क्रॉस बोर्डर फाइनेंस को आसान बना रहा है फिनटेक स्टार्टअप Vayana Network?

कैसे क्रॉस बोर्डर फाइनेंस को आसान बना रहा है फिनटेक स्टार्टअप Vayana Network?

ट्रेड फाइनेंस स्टार्टअप  Vayana Network  ने हाल ही में भारत में क्रॉस बोर्डर फाइनेंस सॉल्यूशंस लॉन्च किए हैं. इसके लिए Vayana ने Olea Global के साथ पार्टनरशिप की है. Olea एक डिजीटल सप्लाई चेन प्लेटफॉर्म है. यह सस्टेनेबल ट्रेड को सशक्त बनाता है.

पिछले कुछ वर्षों में, भारत में मैन्युफैक्चरिंग सेंटर को लेकर रुचि बढ़ रही है. बड़े मल्टी-नेशनल कॉर्पोरेशन अपनी ग्लोबल सप्लाई चेन में विविधता लाना चाहते हैं. इस बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए, भारत में बिजनेसेज - विशेष रूप से सूक्ष्म, लघु और मध्यम आकार के उद्यम (MSMEs) पूंजी के लिए तेजी से तलाश कर रहे हैं. पारंपरिक उधारदाताओं के पास लंबी और अपारदर्शी दस्तावेज़ीकरण प्रक्रियाएँ होती हैं जो इस पूंजी तक पहुँच को कठिन बनाती हैं. वास्तव में, विश्व बैंक का अनुमान है कि अकेले भारतीय MSMEs के अकाउंट में 380 अरब डॉलर का क्रेडिट गैप है.

राम अय्यर द्वारा 2017 में शुरू किया गया, Vayana एक B2B ट्रेड फाइनेंस मिडिएटर है जो बिजनेस लोन के लिए कम लागत वाली पहुंच के लिए SME और कॉर्पोरेट्स को वित्तीय संस्थानों से जोड़ता है.

Vayana Network के फाउंडर और सीईओ, राम अय्यर ने कहा, "सरकार, अपने "मेक इन इंडिया" प्रोग्राम और प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव्स (PLI) के माध्यम से, भारतीय मैन्युफैक्चरिंग को विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनने के ट्रेडिंग के लिए Cross लिए प्रोत्साहन दे रही है. ITFS (इंटरनेशनल ट्रेड फाइनेंस सर्विसेज) प्लेटफॉर्म और हमारी दूसरी क्रॉस बोर्डर सर्विसेज के साथ, हमारा उद्देश्य बिजनेसेज को ट्रेड फाइनेंस सॉल्यूशंस की एक बड़ी रेंज प्रदान करना है. Olea के साथ साझेदारी सबसे स्मॉल बिजनेसेज को सबसे बड़े लोन देने वालों के साथ जोड़ने के हमारे दृष्टिकोण को पूरा करती है.”

यह साझेदारी शुरू में छोटे और मध्यम आकार के एक्सपोर्टर्स के लिए एक्सपोर्ट फाइनेंस को आसान बनाएगी. ओलिया और वायना के बीच पार्टनरशिप और नए और अनूठे प्रोडक्ट्स लेकर आएगी. ओलिया अपनी व्यापक संरचना क्षमता, अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म और ग्लोबल लेवल पर वैकल्पिक निवेशकों से फाइनेंस दिलाता है. दूसरी ओर, वायना भारतीय इकोसिस्टम में गहराई से जुड़ा है और फाइनेंस सॉल्यूशन प्रदान करने के लिए भारत में कॉरपोरेट्स के साथ अपने घनिष्ठ संबंधों का लाभ उठाता है.

वायना नेटवर्क ने 25 अलग-अलग सेक्टर्स में 1000 से अधिक सप्लाई चेन के लिए 1.5 लाख से अधिक MSMEs को 10 बिलियन डॉलर से अधिक का लोन देने का दावा किया है. वायना आज भारत में 600 शहरों और 1400+ पिन कोड में फैला हुआ है और दुनिया भर के 20 देशों में फैला हुआ है. 2021 में, वायना को अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (IFSCA) के तत्वावधान में गिफ्ट सिटी (गुजरात) में ITFS (इंटरनेशनल ट्रेड फाइनेंस सर्विसेज) प्लेटफॉर्म शुरू करने के लिए सैद्धांतिक मंजूरी मिल चुकी है.

यशवंत सिन्हा का आरोप : पैसे के बूते चलाया जा रहा ऑपरेशन कमल, विधायकों की खरीद-फरोख्त में जुटी है भाजपा

कमल भाजपा का चुनाव चिह्न है और हाल के वर्षों में विपक्षी दल ओर गैर भाजपा शासित राज्यों में सत्ता हासिल करने के लिए भाजपा पर ‘ऑपरेशन कमल' चलाने का आरोप लगाते रहे हैं. विपक्षी दल इस शब्द का इस्तेमाल सरकार बनाने के लिए दलबदल करने के भाजपा के कथित प्रयासों को बताने के लिए करते हैं.

विपक्ष के साझा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा

भोपाल : राष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष के साझा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने सत्तारूढ़ भाजपा पर देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद के चुनाव में खरीद-फरोख्त करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में जीत हासिल करने के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) धनबल के बूते ऑपरेशन कमल चला रही है. उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि राष्ट्रपति चुनाव में जीत हासिल करने के लिए गैर-भाजपा विधायक के वोटों को खरीदा जा रहा है. उन्होंने कहा कि भाजपा को स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के परिणाम से डर लगता है.

क्या है ऑपरेशन कमल

बता दें कि कमल भाजपा का चुनाव चिह्न है और हाल के वर्षों में विपक्षी दल ओर गैर भाजपा शासित राज्यों में सत्ता हासिल करने के लिए ट्रेडिंग के लिए Cross भाजपा पर ‘ऑपरेशन कमल' चलाने का आरोप लगाते रहे हैं. विपक्षी दल इस शब्द का इस्तेमाल सरकार बनाने के लिए दलबदल करने के भाजपा के कथित ट्रेडिंग के लिए Cross प्रयासों को बताने के लिए करते हैं. भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) ने राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए ओडिशा की आदिवासी नेता और झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू को अपना उम्मीदवार बनाया है. राष्ट्रपति पद के लिए इसी महीने की 18 तारीख को मतदान होगा.

कांग्रेस के 28 आदिवासी विधायकों पर भाजपा की नजर

कांग्रेस विधायकों से मध्य प्रदेश के भोपाल में मुलाकात के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान विपक्ष के साझा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने कहा कि मैंने आज सुबह गहरे दुख के साथ मध्य प्रदेश के एक प्रमुख अखबार में छपी खबर को शीर्षक के साथ पढ़ा, ‘भाजपा की नजर कांग्रेस के 28 जनजातीय विधायकों पर है, क्रॉस वोटिंग की तैयारी.'

गैर-भाजपा विधायकों को पेश की जा रही बड़ी रकम

यशवंत सिन्हा ने यह आरोप ट्रेडिंग के लिए Cross भी लगाया कि मैंने विश्वसनीय सूत्रों से यह भी सुना है कि राष्ट्रपति चुनाव में पार्टी के उम्मीदवार को वोट देने के लिए गैर- भाजपा विधायकों को बड़ी रकम की पेशकश की जा रही है. उन्होंने कहा कि इसका साफ मतलब है कि गणतंत्र के सर्वोच्च पद के चुनाव में भी अब ट्रेडिंग के लिए Cross ‘ऑपरेशन कमल' लागू किया जा रहा है. इससे यह जाहिर होता है कि भाजपा एक स्वतंत्र और निष्पक्ष राष्ट्रपति चुनाव के परिणाम से डरती है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के आदिवासी विधायक और राज्य के पूर्व मंत्री उमंग सिंघार ने एक बैठक के दौरान साफ तौर पर कहा कि उन पर दबाव बनाया गया है. उन्होंने कहा कि देश में किस तरह की राजनीति हो रही है. राष्ट्रपति चुनाव को भूल जाइए.'

भाजपा ने क्रॉस वोटिंग के लिए कांग्रेसी विधायक से साधा संपर्क

राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष के साझा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा की यह टिप्पणी राजनीतिक गलियारों में इस चर्चा के बीच आई है, जिसमें यह कहा जा रहा है कि भाजपा के एक नेता ने क्रॉस वोटिंग के लिए कांग्रेस के आदिवासी विधायक उमंग सिंघार से संपर्क किया है. उन्होंने कहा कि शुरू से ही वे कहते रहे हैं कि यशवंत सिन्हा हारे हुए उम्मीदवार हैं और वे भारी जनादेश के साथ राष्ट्रपति चुनाव जीत रहे हैं. अगर ऐसा है तो आप चिंतित क्यों हैं? आप कांग्रेस के 28 आदिवासी विधायकों पर नजर रख रहे हैं और क्रॉस वोटिंग करने जा रहे हैं.'

रेटिंग: 4.91
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 231