Don’t miss out on this golden opportunity!
SOVEREIGN GOLD BONDS SCHEME 2022-23 Tranche-III opens from 19th Dec – 23rd Dec, 2022
Know more: https://t.co/toePwiynMR#SovereignGoldBond #AzadiKaAmritMahotsavWithSBI #SBI pic.twitter.com/W4rLKCSI2W — State Bank of India (@TheOfficialSBI) December 18, 2022

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2022-23 सीरीज III के लिए सब्सक्रिप्शन शुरू, जानिए इसके बारे में सबकुछ

Sovereign Gold Bond Scheme: जो लोग सोना खरीदना चाहते हैं, उसमें निवेश करना चाहते हैं, उनके लिए एक बार फिर सॉवरेन गोल्ड बॉऩ्ड स्कीम शुरु हो रही है जिसमें आप एक तरीके से सस्ता सोना खरीद सकते हैं। सोने के लिए अपने बजट के बराबर पैसा लगाकर शानदार मुनाफा हासिल कर सकते हैं। भारतीय रिजर्व बैंक ने सोमवार को सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2022-23 सीरीज 3 का सब्सक्रिप्शन शुरू कर दिया है, जो पांच दिनों के लिए ओपन रहेगा। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड का इशू प्राइस 999 शुद्ध सोने की कीमत के आधार पर तय होता। इस बार नई किस्त का इशू प्राइस 5409 रुपये प्रतिग्राम रखा गया है।

आरबीआई की ओर से जारी बयान में बताया गया कि सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2022-23 सीरीज III के लिए सब्सक्रिप्शन अवधि 19-23 दिसंबर, 2022 तक रहेगी, जबकि इसके जारी होने की तिथि 27 दिसंबर रहेगी।

कौन खरीद सकता है सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड ?

आरबीआई की ओर से जारी नए सर्कुलर के अनुसार, कोई भी व्यक्ति, एचयूएफ, ट्रस्ट, यूनिवर्सिटी और चैरिटेबल संस्था सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड खरीद सकती है। किसी भी व्यक्ति या संस्था को कम से कम 1 ग्राम या उसके गुणज में सोना खरीदना होगा। एक व्यक्ति एवं एचयूएफ अधिकतम 4 किलो गोल्ड और ट्रस्ट एवं संस्थाएं अधिकतम 20 किलो गोल्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।

ऑनलाइन खरीद पर मिलेगा डिस्काउंट

भारतीय रिजर्व बैंक के साथ एग्रीमेंट में, भारत सरकार ने उन निवेशकों को डिस्काउंट देने का फैसला किया है जो ऑनलाइन आवेदन करते हैं अगर कोई व्यक्ति या संस्था डिजिटल माध्यम से ऑनलाइन सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड खरीदती है, तो उसे प्रति ग्राम 50 रुपये का डिस्काउंट दिया जाएगा। इन निवेशकों के लिए गोल्ड बांड का निर्गम मूल्य रु. 5,359 रुपये प्रति ग्राम होगा।

SBI के माध्यम से सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (SGB) कैसे खरीदें

1. क्रेडेंशियल्स का उपयोग करके एसबीआई नेट बैंकिग में लॉग इन करें
2. मेन मेनू से ‘ई-सर्विस’ पर क्लिक करें
3. ‘सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम’ पर क्लिक करें
4. यदि आप पहली बार निवेश कर रहे हैं तो आपको रजिस्ट्रेशन कराना होगा।
5. हेडर टैब से ‘रजिस्टर’ चुनें, फिर ‘नियम और शर्तें’, फिर ‘आगे बढ़ें’.
6. अपनी सभी डिटेल के साथ नॉमिनेशन और अन्य डिटेल जोड़ें
7. NSDLया CDSL से डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट चुनें जहां आपका डीमैट अकाउंट है
8. डीपी आईडी, क्लाइंट आईडी दर्ज करें और ‘सबमिट’ टैब पर क्लिक करें
9. डिटेल की पुष्टि करें और ‘सबमिट’ टैब पर क्लिक करें
10। रजिस्ट्रेशन के बाद हेडर टैब से ‘खरीदारी’ चुनें
11. नॉमिनेशन क्वांटिटी, नॉमिनेशन डिटेल दर्ज करें
12. अपना ओटीपी दर्ज करें और ‘पुष्टि करें’ पर क्लिक करें

Don’t miss out on this golden opportunity!
SOVEREIGN GOLD BONDS SCHEME 2022-23 Tranche-III opens from 19th Dec – 23rd Dec, 2022
Know more: https://t.co/toePwiynMR#SovereignGoldBond #AzadiKaAmritMahotsavWithSBI #SBI pic.twitter.com/W4rLKCSI2W

— State Bank of India (@TheOfficialSBI) December 18, 2022

ऑफलाइन कहां से खरीद सकते हैं?

आप सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को सभी बड़े बैंकों के माध्यम से खरीद सकते हैं, जैसे जैसे एसबीआई और एचडीएफसी बैंक। निर्धारित डाकघरों से भी इसकी खरीद हो सकती है। किसी भी लघु वित्त बैंक, भुगतान बैंक और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक से भी खरीद सकते हैं। इसके अलावा आप स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SHCIL), क्लीयरिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (CCIL), एनएसई और बीएसई से भी इन बॉन्ड्स को खरीद सकते हैं।

क्या है सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड?

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड सोने में निवेश की सरकारी स्कीम है। भारत सरकार की ओर से RBI सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड जारी करता है। इसमें भौतिक रूप से सोने की खरीद के बजाय डिजिटल गोल्ड में निवेश की सुविधा होती है। सरकार ने 2015 में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना शुरू की थी। इसके तहत वित्त वर्ष में 4 बार सब्सक्रिप्शन का मौका मिलता है। इस बार सब्सक्रिप्शन के लिए तीसरी सीरीज 19 से 23 दिसंबर तक खुली रहेंगी। इस वित्त वर्ष की चौथी सीरीज 6 से 10 मार्च तक सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगी. इससे पहले, जनवरी और अगस्त ब्याज पर पैसा निवेश करना कहाँ लाभदायक है 2022 में SGB में निवेश की सुविधा दी गई थी।

एक बार में कितना गोल्ड बॉन्ड खरीद सकते हैं?

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की मैच्योरिटी 8 साल की होती है. इस दौरान 2.5% की सालाना दर से ब्याज मिलता है, यानी 8 साल में 20 प्रतिशत ब्याज मिलेगा। 5वें साल से आपको विड्रॉल ऑप्शन मिल जाता है और ब्याज भी मिलने लगता है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में कम से कम एक ग्राम सोने का निवेश किया जा सकता है, और व्यक्तियों, एचयूएफ, और ट्रस्टों और अन्य समान संस्थाओं के लिए प्रत्येक वित्तीय वर्ष में निवेश की जा सकने वाला अधिकतम निवेश क्रमश: चार किलोग्राम, चार किलोग्राम और बीस किलोग्राम है। अच्छी बात ये है कि इसे नाबालिग के नाम पर भी खरीदा जा सकता है।

फिजिकल गोल्ड और सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में क्या फर्क है

दरअसल, फिजिकल सोना खरीदने में कई दिक्कतें होती हैं। एक तरफ सोने की शुद्धता की चिंता तो दूसरी तरफ सोना खरीदने और गहने बनवाने पर GST और मेकिंग चार्ज भी देन पड़ता हैं। SGB बॉन्ड GST के दायरे में नहीं है, जबकि फिजिकल गोल्ड पर 3% GST लगता है। घर में सोना रखने पर उसकी सुरक्षा की भी चिंता रहती है। SGB पेपर फॉर्म में होता है, तो इसके रखरखाव में खर्च नहीं करना पड़ता। निवेश के नजरिये से फिजिकल गोल्ड के मुकाबले सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में पैसा लगाना बेहतर माना जा सकता है, क्योंकि बाजार में चाहे कितनी भी उथल-पुथल हो आपका नुकसान नहीं होगा।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के फायदे

गोल्ड बांड योजना का मकसद फिजिकल सोने की मांग को कम करना है। ब्याज पर पैसा निवेश करना कहाँ लाभदायक है जैसे आपने सोना खरीदकर घर में रखा है और भाव बढ़ने का इंतजार करना होगा। लिहाजा गोल्ड बॉन्ड में पैसा लगाकर निवेशक सोने की सुरक्षा की मानसिक चिंता से भी मुक्त रह सकता है। यही कुछ खास वजहें हैं जिनके कारण लोगों की दिलचस्पी गोल्ड बॉन्ड में बढ़ रही है। साथ ही घरेलू बचत को वित्तीय बचत में बदलकर इसका ऐसा इस्तेमाल करना है ताकि इससे आम निवेशकों को सस्ता सोना मिले तो वहीं अर्थव्यवस्था को भी फायदा हो।

पोस्ट ऑफिस की ये स्कीम आपको बनाएगी करोड़पति , हर महीने करना होगा इतना निवेश

gg

यूटिलिटी न्यूज़ डेस्क . अगर आप सुरक्षित निवेश करना चाहते हैं तो आपको पोस्ट ऑफिस की योजनाओं में निवेश करना चाहिए। यहां आपका पैसा पूरी तरह सुरक्षित माना जाता है। यहां आप अपनी सुविधा के अनुसार कई योजनाओं में निवेश कर सकते हैं। पोस्ट ऑफिस की कुछ ऐसी स्कीम्स हैं जो आपको कुछ सालों में अच्छा मुनाफा भी देती हैं। खासकर पोस्ट ऑफिस की छोटी बचत योजनाओं में पैसा जमा करना एक बेहतर विकल्प है। अगर आप लंबी अवधि के लिए निवेश करते हैं तो आप पब्लिक प्रोविडेंट ब्याज पर पैसा निवेश करना कहाँ लाभदायक है फंड में निवेश कर सकते हैं। जो आपको करोड़पति बना सकता है।

वार्षिक चक्रवृद्धि दर प्रतिशत देती है। स्कीम की मेच्योरिटी 15 साल है , लेकिन उसके बाद इसे और 5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। अगर आपको 15 साल की अवधि के अंत में फंड की जरूरत नहीं है , तो आप इसे निकाल सकते हैं। इससे आपको चक्रवृद्धि ब्याज का लाभ मिलेगा।

डाकघर की यह बचत योजना सालाना चक्रवृद्धि 7.1 प्रतिशत की ब्याज दर प्रदान करती है। स्कीम की मेच्योरिटी 15 साल है , लेकिन उसके बाद इसे और 5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। अगर आपको 15 साल की अवधि के अंत में फंड की जरूरत नहीं है , तो आप इसे निकाल सकते हैं। इससे आपको चक्रवृद्धि ब्याज का लाभ मिलेगा।

इस योजना में आप हर साल अधिकतम 1.50 लाख रुपये का निवेश कर सकते हैं। एक साल में 1.50 लाख रुपए जमा करने की जगह आप 12500 रुपए मंथली भी जमा कर सकते हैं। इसके अलावा आप पीपीएफ पर इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80 सी के तहत टैक्स छूट भी पा सकते हैं। इसके ब्याज पर कमाए गए पैसे पर कोई टैक्स नहीं लगता है। बचत योजना में 22.5 लाख रुपये निवेश करने पर आपको 18 लाख ब्याज पर पैसा निवेश करना कहाँ लाभदायक है रुपये का ब्याज मिलता है। जिसकी मेच्योरिटी 15 साल में है।

एसआईपी योजना के लाभ : हर साल आप अधिकतम रुपये का निवेश कर सकते हैं। 1.50 लाख का निवेश किया जा सकता है। एक साल में 1.50 लाख रुपए जमा करने की जगह आप 12500 रुपए मंथली भी जमा कर सकते हैं। इसके अलावा आप पीपीएफ पर इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80 सी के तहत टैक्स छूट भी पा सकते हैं। इसके ब्याज पर ब्याज पर पैसा निवेश करना कहाँ लाभदायक है कमाए गए पैसे पर कोई टैक्स नहीं लगता है। बचत योजना में 22.5 लाख रुपये निवेश करने पर आपको 18 लाख रुपये का ब्याज मिलता है। जिसकी मेच्योरिटी 15 साल में है।

अगर आप इस योजना में हर महीने 12,500 रुपये का निवेश करते हैं , तो आपके पास एक साल में 1.50 लाख रुपये होंगे। यानी आपको प्रतिदिन 416 रुपये की बचत करनी होगी। वहीं , 15 साल में कुल निवेश 22.50 लाख रुपए आता है , जिस पर आपको 7.1 फीसदी सालाना ब्याज दिया जाता है। परिपक्वता राशि कुल रु . 40.70 लाख , जिनमें रु . ब्याज लाभ के रूप में 18.20 लाख।

अगर आप इस योजना में हर महीने 12,500 रुपये का निवेश करते हैं , तो आपके पास एक साल में 1.50 लाख रुपये होंगे। यानी आपको प्रतिदिन 416 रुपये की बचत करनी होगी। वहीं , 15 साल में कुल निवेश 22.50 लाख रुपए आता है , जिस पर आपको 7.1 फीसदी सालाना ब्याज दिया जाता है। परिपक्वता राशि कुल रु . 40.70 लाख , जिनमें रु . ब्याज लाभ के रूप में 18.20 लाख।

25 साल तक प्रति माह रु . 12,500 रुपये जमा करके। राशि के दोगुने से 40.70 लाख अधिक। यदि केवल 7.1 प्रतिशत की वार्षिक ब्याज दर लागू होती है , तो 25 वर्षों में कुल निवेश रु। 37.50 लाख। और रुपये के ब्याज लाभ के साथ। ब्याज में 62.50 लाख , यानी परिपक्वता पर रु। 1.03 करोड़ मिलेंगे।

25 साल तक प्रति माह रु . 12,500 रुपये जमा करके। राशि के दोगुने से 40.70 लाख अधिक। यदि केवल 7.1 प्रतिशत की वार्षिक ब्याज दर लागू होती है , तो 25 वर्षों में कुल निवेश रु। 37.50 लाख। और रुपये के ब्याज लाभ के साथ। ब्याज में 62.50 लाख , यानी परिपक्वता पर रु। 1.03 करोड़ मिलेंगे।

Post Office की इस स्कीम में करें निवेश, बैंक एफडी से जल्दी डबल हो जाएगा पैसा

Post Office की इस स्कीम में करें निवेश, बैंक एफडी से जल्दी डबल हो जाएगा पैसा

यदि आप डाकघर की बचत योजनाओं में निवेश करते हैं तो यह खबर आपके काम की है। बीते दो साल 2020 और 2021 कोरोना महामारी की भेंट चढ़ गए। इस दौरान काफी जान-माल का नुकसान हुआ है। अब इस साल 2022 में बाजार आर्थिक नुकसान से उबर रहा है। कोरोना महामारी के बीच निवेश करना बेहद सोचा समझा फैसला हो गया है। ऐसे में अपने निवेश पर ज्यादा से ज्यादा रिटर्न हासिल करने की सोच रहे हैं तो पोस्ट ऑफिस (Post Office) की छोटी बचत योजनाएं (Small Saving Schemes) एक बेहतर विकल्प हो सकती हैं।

बैकों में एफडी (Fixed Deposite) पर मिलने वाले ब्याज में लगातार कमी आ रही है। ऐसे में पोस्ट ऑफिस की स्मॉल सेविंग्स स्कीम कई बार बैकों की एफडी से बेहतर रिटर्न दे देती हैं। इसमें पूरा पैसा सुरक्षित रहता है और जमा राशि पर सॉवरेन गारंटी भी होती है। पोस्ट ऑफिस में टाइम डिपॉजिट अकाउंट (Time Deposite Account) में 1 साल, 2 साल, 3 साल और 5 साल के लिए राशि जमा कर सकते हैं।

इसमें फायदा यह है कि यहां बैंक की तुलना में एफडी (FD) पर ब्याज दर 1.40 फीसदी ज्यादा है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में फिलहाल जहां 5 साल की एफडी पर 5.3 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है, वहीं पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट के तहत 5 साल की जमा राशि पर 6.7 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है।

ये हैं टाइम डिपॉजिट अकाउंट की ब्याज दरें

पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट अकाउंट की 1 साल, 2 साल और 3 साल की एफडी पर एक समान 5.5 फीसदी की दर से ब्याज मिलता है। वहीं, 5 साल की एफडी कराने पर यह ब्याज दर 6.7 प्रतिशत हो जाती है। बता दें कि 6.7 फीसदी सालाना ब्याज दर के हिसाब से पोस्ट ऑफिस में जमा रकम दोगुना होने में लगभग 10.74 साल यानी करीब 129 महीने लगेंगे।

Corona Update: आनेवाले त्योहारों को लेकर सरकार सतर्क, राज्य सरकारों को भेजे ताजा गाइडलाइन्स

योजना की ये हैं खास बातें

- पोस्ट ऑफिस में एफडी अकाउंट कैश या चेक के माध्यम से कोई भी खुलवा सकता है।

- चेक देने पर खाते में रकम आने की तारीख से ही अकाउंट खुला माना जाएगा।

- इस अकाउंट को नाबालिग के नापर और दो वयस्कों के नाम पर संयुक्त खाता खोला जा सकता है।

- एफडी खाता खुलवाने के लिए न्यूनतम 1000 रुपए जमा कराना अनिवार्य है।

- 10 साल से कम उम्र के बच्चे के नाम पर पालक अकाउंट खोल सकते हैं।

Covid-19 Vaccine: Co-WIN एप पर शामिल हुआ नेजल वैक्सीन, जानिए कहां और कैसे लगाएं ये टीका

- टाइम डिपॉजिट में जमा पर आयकर एक्ट 1961 के सेक्शन 80C के तहत टैक्स में छूट मिलती है।

PPF अकाउंट को एक्सटेंड करने का नियम क्या है,जानें बेनिफिट्स और प्रोसेस

PPF Account Extension, Public Provident Fund

पीपीएफ अकाउंट में लंबी अवधि के लिए पैसा निवेश किया जाता है

पीपीएफ अकाउंट में 15 साल में मैच्योरिटी मिलती है

15 साल के बाद भी पीपीएफ अकाउंट को एक्सटेंड कर सकते हैं

PPF Extension: नौकरी पेशा नहीं करने वाले लोगों के पास EPF का विकल्प नहीं होता है. यानी प्रोविडेंट फंड (PF) अकाउंट केवल नौकरी पेशा वाले लोगों के ही हो सकते हैं. ऐसे में जो नौकरी नहीं कर रहे हैं. वह पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) के जरिए अपना अकाउंट खोल सकते हैं. हालांकि, PF जैसी सुविधा PPF में नहीं होती है. लेकिन नौकरी नहीं करने वाले लोग अपना भविष्य सुरक्षित करना चाहते हैं तो आप PPF अकाउंट में निवेश कर सकते हैं.इस अकाउंट को पोस्ट ऑफिस में आराम से खुलवा सकते हैं. इस योना में 15 साल तक निवेश किया जाता है जिससे उन्हें बड़ी रिटर्न प्राप्त होती है. हालांकि, आपको बता दें इस अकाउंट को आप चाहें तो 25 साल तक जारी रख सकते हैं.

इसका मतलब ये है कि, पीपीएफ अकाउंट की मैच्योरिटी 15 साल में हो जाती है. लेकिन आप और ज्यादा रिटर्न चाहते हैं तो आप इसे 25 साल तक चला सकते हैं. यानी आप इसे 5-5 साल तक एक्सटेंड कर सकते हैं.एक्सटेंड करने के पहले विकल्प के तौर पर आप इसमें निवेश कर सकते हैं. आपको हर साल कम से कम 500 रुपए सालाना जमा करना होगा.हालांकि,इसमें अधिकतम सालाना 1.5 लाख रुपये निवेश किया जा सकता है.

वहीं, दूसरे विकल्प के तौर पर आप बिना पैसे डाले भी अकाउंट को एक्सटेंड कर सकते हैं. अगर आप अपने खाते से पैसे नहीं निकालते हैं और कोई फॉर्म भी अकाउंट के एक्सटेंशन के लिए नहीं डालते हैं तो आपके खाते में जमा पैसों पर खुद व खुद ब्याज मिलता रहता है. इसमें आपका कोई नया कॉन्ट्रीब्यूशन नहीं होता है. यानि बिना कॉन्ट्रीब्यूशन के ही आपको ब्याज मिलता रहेगा.

आपको बता दें, PPF अकाउंट में जमा रकम के अनुसार ब्याज मिलता है और इसके लिए टैक्स छूट भी लागू रहती है.

पीपीएफ में मौजूदा समय में 7.1 प्रतिशत का ब्याज दिया जा रहा है. वहीं, सरकार के द्वारा पीपीएफ पर ब्याज दर की समीक्षा हर तिमाही करती है. इसके साथ ही अगले तिमाही के लिए ब्याज का फैसला किया जाता है.

ब्याज पर पैसा निवेश करना कहाँ लाभदायक है

union

union

Rewarded

Earn reward points on transactions made at POS and e-commerce outlets

Book your locker

Deposit lockers are available to keep your valuables in a stringent and safe environment

Financial Advice?

Connect to our financial advisors to seek assistance and meet set financial goals.

रेटिंग: 4.78
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 810